34.7 C
New York
Tuesday, July 16, 2024

डीएम कैसे बने?DM Kaise Bane

आज हम में इस लेख में डीएम कैसे बने?DM Kaise Bane के बारे में विस्तार से जानेंगे। सभी छात्र और छात्राएं अच्छी पढ़ाई करने के बाद वह चाहते हैं। कि वह एक अच्छे सरकारी पद पर कार्य करेंगे। कोई अच्छी पढ़ाई करके डॉक्टर बनना चाहता है तो कोई इंजीनियर बनना चाहता है तथा कोई अच्छी पढ़ाई करके आईएएस बनना चाहता है। आप सभी लोगों ने डीएम डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के बारे में सुना ही होगा।  डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट यानी डीएम का सबसे महत्वपूर्ण कार्य होता है। कि वह कानून की व्यवस्था को बनाए रखें हर एक जिले में एक न्यायालय होता है और जिले के न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को डीएम या डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट कहा जाता है। प्रशासन के तौर पर इनका बहुत ही बड़ा स्थान होता है। इनकी सैलरी भी बहुत ही अच्छी होती है। यह हमारे समाज में बहुत ही सम्मान जनक पद माना जाता है। यदि आप भी अपने प्रश्न का उत्तर  जानना चाहते हैं। कि डीएम कैसे ? बने डीएम बनने के लिए कौन – कौन सा एग्जाम पास करना होगा तो आप बहुत ही अच्छी जगह आये हो  डीएम कैसे बने ? की संपूर्ण जानकारी के लिएआपको हमारे इसलिए को इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा।

आज हम इस लेख में डीएम कैसे बने के बारे में सारी जानकारी को विस्तार से बताएंगे डीएम प्रशासनिक सेवा का एक प्रतिष्ठित पद है। यदि आप भी इस पद को पाना चाहते हैं तो आपको सिविल सर्विस एग्जाम पास करना होगा। आपको सिविल सर्विस एग्जाम पास करने के बाद इस की इस की पोस्ट प्राप्त करनी होगी उसके बाद ही आपका प्रमोशन होने के बाद आप जिला अधिकारी के पद पर कार्य कर सकते हैं।

डीएम का फुल फॉर्म क्या होता है ? DM Ka full Form

डीएम का फुल फॉर्म डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट District Magistrate होता है। और हम हिंदी में डीएम को जिला न्यायाधीश कह कर बुलाते हैं।

डीएम किसे कहते है? DM Kise Kahte Hai

जिले के न्यायाधीश को  ही डीएम कहते हैं। प्रत्येक जिले में एक न्यायाधीश होता है। जो जिले के कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए  जिला न्यायालय के मुख्य अधिकारी जिला मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य करता है। जिला न्यायाधीश का मुख्य कार्य होता है। जिले के कानून व्यवस्था को बनाए रखने तथा अपने से निचले स्तर के कर्मचारियों के कार्यों की देख रेख करना।

डीएम बनने के लिए योग्यता। DM Banne Ke Liye Yogyta

  1. डीएम बनने के लिए आप किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा पास होना चाहिए।
  2. तथा किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन पास होना चाहिए।
  3. डीएम बनने के लिए आपको उसके बाद सिविल सर्विस एग्जाम को पास करना होगा।

डीएम बनने के लिए आयु DM Banne Ke Liye Age

यदि आप DM  बनना चाहते हैं तो आपके पास  ग्रेजुएशन की डिग्री होना बहुत ही आवश्यक है। तथा आपकी उम्र 21 वर्ष या अधिकतम 32 वर्ष होना चाहिए ओबीसी कैटेगरी के छात्रों कोअधिकतम उम्र सीमा में 3 वर्ष की छूट मिलती है तथा एससी और एसटी छात्रों को अधिकतम उम्र सीमा में 5 वर्ष की छूट मिलती है।

डीएम कैसे बने? DM Kaise Bane

  1. डीएम बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी विषय से ग्रेजुएशन पास करना होगा उसके बाद आप सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी करेंगे तथा फिर आप सिविल सर्विस एग्जाम के लिए अप्लाई करेंगे।
  2. प्रत्येक वर्ष संघ लोक सेवा आयोग यूपीएससी सिविल सर्विस एग्जाम के लिए नोटिफिकेशन निकलता है। जिस समय सी एस ई  एग्जाम के लिए फॉर्म निकलता है। उस समय एप्लीकेशन फॉर्म को भर जाता है।
  3. यूपीएससी सिविल सेवा एग्जाम को तीन चरणों में विभाजित करती है। पहले चरण में प्राथमिक परीक्षा तथा दूसरा चरण में मुख्य परीक्षा तथा तीसरे चरण इंटरव्यू होता है।
  4. डीएम बनने के लिए इन तीनों परीक्षाओं को पास करना होगा।
  5. यूपीएससी का एग्जाम पास करने के बाद आईएएस ऑफिसर का पोस्ट मिलता है।
  6. जब आप आईएएस ऑफिसर का पद प्राप्त कर लेंगे तो उसके बादआपको प्रमोशन के बाद डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट या डीएम का पता का पद मिलता है।
  7. डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट का पोस्ट आपको एक दो प्रमोशन के बाद ही मिलता है।

डीएम का क्या कार्य होता है? DM Ke Kam

  1. डीएम बनने के बाद डीएम का सबसे मुख्य कार्य होता है जिले के कानून व्यवस्था को बनाए रखना।
  2. अपने जिले के सभी अपराधों के बारे में रिपोर्ट बना कर सरकार को जानकारी देना।
  3. अपने जिले में उपस्थित सभी पुलिस थानों का निरीक्षण करना।
  4. जिले में सभी कार्यों के बारे में जानकारी देना।

डीएम की सैलरी कितनी होती है? DM Ki Salary

हम आपको बता दे की डीएम की सैलरी 50000 से लेकर एक लाख तक होती है। जिला न्यायाधीश का वेतन अच्छा खासा होता है। उनको वेतन के अलावा अन्य भत्ते भी मिलते हैं। जैसे – महंगाई भत्ता ,यात्रा भत्ता, आवास भत्ता और अपने पद से रिटायर होने के बाद पर पेंशन भी मिलता है।

डीएम बनने के लिए परीक्षाएं DM Exam

डीएम बनने के लिए आपको यूपीएससी द्वारा आयोजित सिविल सर्विस एक्जाम को पास करना होगा। सिविल सर्विस परीक्षा को पास करने के बाद सबसे पहले IAS की पोस्ट पर कार्य करना होगा। इस पद के प्रमोशन के बाद ही आपको जिला न्यायाधीश का पद प्राप्त होगा। यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा को तीन चरणों में करवाती है।

प्रारंभिक परीक्षा [ Prelims Exam ]

प्रारंभिक परीक्षा सिविल सर्विस एग्जाम का प्रथम चरण की परीक्षा होती है। इस परीक्षा में जनरल स्टडीज के दो पेपर होते हैं। दोनों पेपर कल 200 – 200 अंकों का प्रश्न होता है। तथा सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होते हैं।

मुख्य परीक्षा [ Mains Exam ]

जब आप प्रारंभिक परीक्षा का पास कर लेंगे आप उसके बाद ही  मुख्य परीक्षा को दे सकते हैं। इस परीक्षा में कुल 7 पेपर होता है। इस परीक्षा में डिस्क्रिप्टिव टाइप के प्रश्न होते हैं।

साक्षात्कार [ interview]

साक्षात्कार अंतिम चरण की परीक्षा होती है जब आप प्रारंभिक परीक्षा तथा मुख्य परीक्षा को पास कर लेंगे तो आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इंटरव्यू पास करने के बाद आप इस की पोस्ट को प्राप्त करेंगे तथा उसके बाद इस के प्रमोशन के बाद आप डीएम के पद को प्राप्त कर सकते हैं।

डीएम कैसे बने?DM Kaise Bane

डीएम बनने के लिए कौन सा कोर्स करना चाहिए?

डीएम बनने के लिए आपको सबसे पहले सिविल सर्विस एग्जाम को पास करना होगा। सिविल सर्विस एग्जाम को पास करने के बाद आप इस के पद पर कार्य करेंगे और जब इस के पद का प्रमोशन होगा तब आप डीएम के पद पर कार्य करेंगे।

निष्कर्ष

आज हमने इस लेख में डीएम कैसे बने?DM Kaise Bane के बारे में बताया है। यदि हमारे टीम द्वारा लिख गया लेख आपकी सहयता करता है , तो हमारे saptahikpatrika.com को जरुर फॉलो करें।

        Read More :  B.Ed Vs BTC: सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने प्राथमिक स्कूलों के लिए शिक्षक पात्रता में बदलाव किया

Saptahik Patrika
Saptahik Patrikahttps://saptahikpatrika.com
I love writing and suffering on Google. I am an professional blogger.

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles