2023 में आईएएस कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में IAS kaise bane in hindi

IAS Kaise Bane

आईएएस ( I A S ) भारत की सिविल सेवा का सबसे उच्च पद माना जाता है, इस पद की गरिमा और शक्ति के आधार पर ही इसके चयन की परीक्षा भी उसी प्रकार तय किया गया है। ताकि इस पद पर केवल प्रतिष्ठित और योग्य व्यक्ति की पहुंच सके ,आईएएस के पद पर अनेक विद्यार्थी सेलेक्ट होना चाहते हैं। लेकिन इस पद पर केवल कर्मठशील और योग्य तथा अनुशासित व्यक्ति ही पहुंच पाते हैं। आईएएस बनने के लिए बहुत ही मेहनत से पढ़ाई करने की जरुरत होती है।

आईएएस ऑफिसर बनने के लिए कड़ी मेहनत और लगन की आवश्यकता होती हैं। आप सिर्फ जिला अधिकारी या जिला मजिस्ट्रेट तक ही आईएएस ऑफिसर को न जाने ,भारत जैसे देश में सभी विभाग के प्रशासनिक मुख्य अधिकारी आईएएस ऑफिसर ही होता है। भारत सरकार सचिव हो या किसी भी केंद्रीय मंत्रालय का मुख्य सचिव एक आईएएस ऑफिसर ही होता है। भारत सरकार के प्रशासनिक सेवा में सबसे बड़ा अवदा या रैंक एक आईएएस ऑफिसर का ही होता है।

Read more: MBBS के बाद नौकरी कैसे पा सकते हैं?

इसी वजह से देश में सबसे उच्च पद पर बैठने वाला एक आईएएस ऑफिसर अधिकारी ही होता है। भारतीय सिविल सेवा में चयनित होना गर्व की बात है। यह आपको नौकरी ही नहीं बल्कि सही ढंग से देश की सेवा करने का मौका भी देता है। यह एक स्थायी कार्यपालिका का सदस्य होता है, जिसका कोई भी इलेक्शन नहीं होता बल्कि इसका सिलेक्शन होता है। देश में विकास के संतुलन के लिए शासन और प्रशासन एक साथ मिल कर कार्यों को पूरा करते हैं। हमने इस लेख में आईएएस कैसे बने इसके बारे में विस्तार से सब कुछ बताया है यदि आप आईएएस कैसे बने के बारे सारी जानकारी लेना चाहते हैं तो इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा।

Table of Contents

(  I AS  )  आईएएस किसे कहते हैं ?

आईएएस ऑफिसर भारतीय सिविल सर्विस का सबसे उच्च पद माना जाता है। जिसके लिए केवल कड़ी मेहनत और लगन से पढ़ाई करने वाला छात्र ही चयन किया जाता है। किसी भी उच्च पद में केवल आईएएस पद को ही वरीयता दी जाती है। वह चाहे केंद्र सरकार का सचिव हो या जिले का जिलाधिकारी ,किसी भी आईएएस अधिकारी को भारतीय प्रशासन में सबसे मुख्य माना जाता है। चाहे जिले में सुरक्षा की बात हो या फिर देश स्तर पर डिफेंस सचिव की हमेशा इन पदों के लिए केवल अनुभवी आईएएस ऑफिसर अधिकारियों को चुना जाता है।

 आईएएस बनने के लिए शैक्षिक योग्यता एवं आयु सीमा

किसी भी मान्यता प्राप्त शैक्षिक संस्थान से स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य होता है। यदि आप 12 वीं  के बाद ही आईएएस ऑफिसर के लिए तैयारी करना चाहते हैं तो कर सकते हैं उसी के साथ ही आपको स्नातक की परीक्षा भी उत्तीर्ण  करना आवश्यक है। आईएएस ऑफिसर बनने के लिए सामान्य वर्ग के लिए अधिकतम आयु 32 वर्ष और ओबीसी के लिए 35 वर्ष और अन्य आरक्षित वर्ग के लिए जैसे एससी और एसटी के लिए 37 वर्ष आयु की सीमा है।

I A S का फुलफार्म

आईएएस का फुलफार्म Indian Administrative Service होता है। हिंदी में इसका फुलफार्म ( भारतीय प्रशासनिक सेवा ) होता है

आईएएस कैसे बने ( Step By Step ) आये जाने

 स्नातक की परीक्षा को उत्तीर्ण करे

आईएएस बनने के लिए आपका सबसे पहला पड़ाव आपको स्नातक की परीक्षा को पास करना होगा और उसमे अच्छे अंक आने चाहिए अपने विषय के अनुसार ही graduation को पास कर ले।

आईएएस परीक्षा के लिए परीक्षा के पैटर्न और परीक्षा के सिलेबस का आकलन करना

जब आप ग्रेजुएट पास कर लेंगे तो आपको आईएएस परीक्षा की सिलेबस और कोर्स को समझना बहुत ही आसान होगा। यूपीएससी की परीक्षा की अच्छी तैयारी के लिए आपको उसके सिलेबस ,प्रारूप व पिछले साल के प्रश्नन पत्रों को अच्छे से पढ़ना होगा ,यह करने से आपको परीक्षा का विस्तृत रूप देखने को मिलेगा। यह देख कर समझ जायेंगे की आपको परीक्षा को उसके जरुरत के अनुसार अध्ययन करना होगा।

आईएएस की परीक्षा के लिए सबसे पहले ऑनलाइन आवेदन करे

आईएएस की परीक्षा के लिए हर साल फरवरी माह में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू होता है। आप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए यूपीएससी ऑफिसियल पोर्टल upsc.gov.in के माध्यम से अपना आवेदन जमा कर सकते है। फार्म भरते समय आप अपनी पूरी जानकारी आधारकार्ड व अकैडमिक दस्तावेज़ के अनुसार ही फार्म को भरे ताकि आपको आगे चल कर किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े। आईएएस की परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन करना बहुत ही आसान है यदि आप इंटरनेट और कंप्यूटर चलाना जानते हैं तो आप बहुत ही आसान ढंग से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

आईएएस की प्रारम्भिक परीक्षा पास करे

आईएएस बनने के लिए सिविल सर्विस की पहली या प्रारम्भिक परीक्षा में सफलता हासिल करनी पड़ती है। prelims एग्जाम में दो पेपर होता है दोनों पेपर 200 -200 अंको का होता है और दोनों प्रश्नपत्र में वैकल्पिक प्रश्नन पूछे जाते हैं। दोनों पेपर 400 अंको का होता है। पेपर को हल करने के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता हैं ,जिसमें सामान्य अध्ययन (General Studies ) व सीसैट (CSAT) से सम्बंधित ही प्रश्न पूछे जाते हैं। यूपीएससी परीक्षा के मैन्स परीक्षा में जाने के लिए आपको प्रीलिम्स परीक्षा पास करना बहुत ही आवश्यक है।

      प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination)

प्रारंभिक परीक्षा में प्रश्न पत्र इस प्रकार से आता है |

क्र०सं०प्रश्न पत्रअंक
1सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र I (वस्तुनिष्ठ)200
2सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II (वस्तुनिष्ठ)200

प्रीलिम्स परीक्षा में सामान्य अध्ययन के दो पेपर होते हैं ,दोनों पेपर 400 अंक के होते हैं। इस परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाते हैं ,एक प्रश्न गलत होने पर 3 अंक  कट जाते हैं। इसी कारण आपको सही उत्तर पता होने पर ही उसे सही करे  ,ऐसा बहुत सारे छात्र नहीं कर पाते जिसके वजह से सभी फेल हो जाते हैं। ऐसी गलती आप न करे नहीं तो आपकी सारी मेहनत बेकार हो जाएगी।

आईएएस की मुख्य परीक्षा पास करे

आईएएस की प्रीलिम्स परीक्षा पास करने के बाद ही आप मुख्य परीक्षा को दे सकते हैं। जो छात्र आईएएस की प्रथम परीक्षा पास कर चुके हैं। वही छात्र इस परीक्षा में बैठ सकते हैं।

 

क्र०सं०प्रश्न पत्रअंक
1.सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –I)250
2.सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –II)250
3.सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –III)250
4.सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –IV)250
5.वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –I)250
6.वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –II)250
7.निबंध लेखन250
8.अंग्रेज़ी (अनिवार्य)300
9.भारतीय भाषा (अनिवार्य)300

Also Read:-

 

इस परीक्षा में नौ प्रश्न पत्र होते हैं। यह सारे पेपर लिखित होते हैं। इस सभी पेपर में आपको दिए गए टॉपिक ने अनुसार सही तरह से समझते हुए लिखना होगा।

आईएएस का साक्षात्कार ( Interview ) पास करे

आईएएस की मुख्य परीक्षा पास करने के बाद आयोग द्वारा साक्षात्कार का आयोजन किया जाता है। वो सभी अभ्यार्थी जो आईएएस की मुख्य परीक्षा पास कर चुके हैं ,वो सभी अभ्यार्थी साक्षात्कार में भाग ले सकते हैं।

परीक्षा का नाम      अंक
साक्षात्कार              275

आईएएस ऑफिसर की ट्रेनिंग I A S Officer Training

यूपीएससी द्वारा परीक्षा करवाने के बाद परीक्षा के सभी चरण में सफल होने के बाद आयोग द्वारा मेरिट लिस्ट निकाली जाती है। उसी के आधार पर अभियार्थियों का चयन किस पद पर होगा उसका निर्धारण किया जाता है। मेरिट लिस्ट में सबसे अव्वल अभ्यर्थी को ही आईएएस का पद दिया जाता है जिसके बाद चयनित अभ्यर्थी को लबसना LBSNAA भेजा जाता है वहाँ पर उनको 2 साल की ट्रेनिंग दी जाती है और उसके बाद MA की डिग्री दी जाती है और पब्लिक प्रशासन में भेजा जाता है ।

आईएएस के सभी पद ( Post Of I A S )

. एसडीओ , एसडीएम ,संयुक्त कलेक्टर ,मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ )

. जिला मजिस्ट्रेट ,जिला कलेक्टर ,डिप्टी कमिशनर

. वभागीय आयुक्त

. सदस्य बोर्ड ऑफ राजस्व

. राजस्व बोर्ड के अध्यक्ष

आईएएस की सैलरी ,आवास ,परिवहन

सैलरी

एक आईएएस ऑफिसर का प्रतिमाह की सैलरी लगभग 56100 से 250000 रुपये होता है।

आवास

एकआईएएस ऑफिसर की पोस्टिंग जब किसी जिले या राज्य में होती है तो वह के प्रतिबंधित क्षेत्र में डुप्लेक्स आवास दिया जाता है।

परिवहन

एक आईएएस अधिकारी को आने जाने के लिए एक या तीन परिवहन चालक के साथ दिया जाता है

FAQ

भारत में कितने आईएएस हैं ?

भारत में अगर कुल आईएएस की बात की जाती है तो डोप्ट यानि डिपॉर्टमेंट ऑफ पर्सोनल एंड लर्निंग के जारी आकड़ो से वर्तमान समय में आईएएस के लगभग 6500 पद हैं। इतने पदों पर आईएएस की पोस्ट लगाई जाती है। वर्तमान में 5004 पदों पर आईएएस अधिकारी नियुक्त हैं । अभी भी 1496 पद खली है ।

एक साल में कितने लोग आईएएस बनते हैं ?

हर साल आईएएस की परीक्षा पास करने के बाद भारतीय प्रशासनिक सेवाओं में 180 उमींदवारों का चयन किया जाता है ।

12 वी के बाद आईएएस कैसे बने ?

आप 12 वीं के बाद आईएएस की तैयारी कर सकते हैं। पर आपको ग्रेजुएशन पूरा करने तक इंतजार करना होगा। उसके बाद आप आईएएस की परीक्षा दे सकते हैं। सबसे पहले आपको प्रीलिम्स परीक्षा पास करनी होगी, उसके बाद आप मुख्य परीक्षा पास करेंगे फिर आपको साक्षात्कार को पास करना होगा। उसके बाद आपकी ट्रेनिंग होगी उसके बाद ही आप आईएएस बन सकते हैं

यूपीएससी का फार्म भरने में कितना पैसा लगता हैं ?

यूपीएससी का फॉर्म भरने के लिए आपको सामान्य /ओबीसी / ईडब्ल्यूएस -रु 100 का शुल्क देना होगा और एससी /एसटी /पूर्वसैनिक /पीडब्ल्यूडी /महिला -शुल्क में छूट दी गई है।

क्या आईएएस की तैयारी के लिए 1 साल काफी है ?

अगर आपने सपने बड़े देखे हैं, तो बड़े सपनों को पूरा करने के लिए कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC )सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन करता है। UPSC हमारे देश की सबसे प्रतिष्ठित और कठिन परीक्षा है। यदि आपको 1 साल में ही इस परीक्षा को पास करना चाहते हैं तो आप 12 वीं के बाद आईएएस की तैयारी कर सकते हैं।अगर आप कड़ी मेहनत और लगन से पढ़ाई करेंगे तो ग्रेजुएशन पास करने के बाद आप आईएएस बन सकते हैं लेकिन यह आपकी मेहनत और लगन के ऊपर है।

Also Read:-

NEET क्या है? कैसे करें NEET Exam की तैयारी

आईएएस बनने के लिए इंग्लिश जुरूरी है ?

आईएएस बनने के लिए एकदम अच्छे से इंग्लिश आये ये कोई जरूरी नहीं है ।आम बोल चाल की भाषा में जी इंग्लिश बोली जाती है। इतनी इंग्लिश आपको आनी चाहिए और अगर कोई व्यक्ति इंग्लिश में बात कर रहा है या आपसे कुछ बोल रहा हो आप उसकी इंग्लिश समझ सको उसका जवाब दे सको।

आईएएस क्या काम करता है?

आईएएस ऑफिसर एक जिला अधिकारी के रूप में  उनका अवदा बहुत ही ज्यादा  बड़ा होता है। आईएएस ऑफिसर के पास पुरे जिले की जिम्मेदारी होती है। एक आईएएस ऑफिसर जिले का मुखिया होता है।

आईएएस बनने के नुकसान ?

आईएएस बनने का सबसे बड़ा नुकसान नेताओं का दबाव होना ,आईएएस बनने के बाद बहुत सारी जिम्मेदारी आ जाती है। कड़ी मेहनत करनी पड़ती है  और एक या दो साल में पोस्टिंग बदलती रहती है। कभी किसी जिले में कभी किसी जिले में भ्रष्टाचार, काम ,वेतन आदि।

 

निष्कर्ष  (conclusion)

हमने इस लेख में आईएएस कैसे के बारे सारी जानकारी दी है अगर आप आईएएस बनना चाहते हैं तो आपको कड़ी मेहनत और लगन से पढ़ाई करनी पड़ेगी। आईएएस बनना बहुत लोगों का सपना होता है,लेकिन इस सपने को वही पूरा कर सकता जो अपना 100%पूरा समय देता हैं। यदि आपको हमारे saptahikpatrika.com टीम द्वारा लिखा गया लेख आपको पसंद आता है तो इसे आगे शेयर करे।